gmail_feature_img

Important facts about Gmail in Hindi? Gmail के बारे में कुछ रोचक तथ्य?

हेलो दोस्तों, आज के इस ब्लॉग में मै आपको GMAIL के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताने वाला हूँ, जो शायद आपको पता हो, या नहीं भी सकते है| जीमेल गूगल का ही एक प्रोडक्ट है, जिसका उपयोग एक मैसेज को एक जगह से दूसरे जगह पहुंचाने के लिया किया जाता है|

जीमेल (Gmail) को गूगल(Google) मेल भी कहा जाता है | जीमेल इसका शार्ट नाम है| Gmail is an email client.

जीमेल(Gmail) को पब्लिक्ली पहली बार 2004 में announce किया गया था | हालांकि इसके शुरआती दौर में लोगो ने इसे मजाक समझा था | पर बाद में जब इसका उपयोग लोगो के बीच बढ़ा तब जाकर लोगो ने इसके महत्व को समझा |

जीमेल(Gmail) को यूज करने के लिए हमें इंटरनेट और कंप्यूटर की जरूररत पड़ती है | और आज कल हम अपने स्मार्ट फ़ोन और इंटरनेट की मदद से भी ईमेल भेज सकते है जीमेल की मदद से |

जीमेल(Gmail) गूगल द्वारा दी जाने वाली एक फ्री सर्विस है जिसका यूज करके आप अपने परिजनों, दोस्तों, ऑफिस कार्यकर्ताओ को अपना सन्देश आसानी से कुछ मिनटों में भेज सकते है , और जबाब में वो भी आपको उसका उत्तर बहुत जल्दी भेज सकते है |

इसकी सबसे बड़ी खूबी यह है कि इसका यूज एक दम फ्री(Free) है , जिसका गूगल किसी से कोई चार्ज नहीं लेता | आपको सिर्फ अपना अकाउंट बनाना पड़ता है गूगल में और आप जीमेल का उपयोग चालू कर सकते हो |
यहाँ तक कि आप गूगल द्वारा दी जाने वाली और उत्पादों कि सुविधा का भी आनंद ले सकते है , जैसे कि गूगल ड्राइव, यूट्यूब इत्यादि |

जैसा कि मैंने आपको बताया गूगल आपसे अकाउंट बनाने और जीमेल(Gmail) को यूज करने का कोई पैसा नहीं लेता है | और वो आपको बहुत साडी साडी डाटा स्टोरेज मेमोरी देता है आपके मेल स्टोर करने के लिए जो कि गीगाबाईट्स में रहती है , जो कि एक नार्मल यूजर के लिए बहुत ज्यादा होती है | और उसे कभी ऐसी स्थिति का सामना नहीं करना पड़ता है कि उसका मेलबॉक्स फुल हो गया हो और वो अपना ईमेल रिसीव न कर पा रहा हो| but अगर किसी को जब ज्यादा ही स्टोरेज और ईमेल भेजने कि जरुरत पड़ती है तब गूगल उसका कुछ चार्ज लेता है | पर ये सब उनके लिए है, जो लोग गूगल को अपने बिज़नेस ईमेल कि तरह यूज करते है|

जीमेल(Gmail) के बारे में एक और रोचक तथ्य यह है कि , अगर आप जीमेल को 9 महीने लगातार यूज भी नहीं करते तब भी आपका अकाउंट डीएक्टिवेट नही होगा, वही ज्यादातर सर्विस में आपको 30 दिन के नादर एक बार लॉगिन जरूर करना पड़ता है , नहीं तो आपका अकाउंट डीएक्टिवेट कर दिया जाता है|

जीमेल(Gmail) के स्पैम टेक्नोलॉजी होती है जिससे कि वह स्पैम जैसे लगने वाले ईमेल को एक अलग स्पैम फोल्डर में रख देता है जिससे आपको उस मैसेज को पढ़ने कि जरुरत नहीं पढ़ती, हालांकि आप चाहे तो स्पैम फोल्डर के मैसेज रीड कर सकते है | यह आप पर डिपेंड करता है| कभी कभी सही मैसेज भी गलत फ्लैग मार्क्स होने के कारण स्पैम फोल्डर में चला जाता है |

जीमेल(Gmail) की मदद से आप ऑटो- रिप्लाई मैसेज भी सेट कर सकते हो | यह तब ज्यादा जरुरी हो जाता है जब आप जीमेल का उपयोग अपने बिज़नेस के लिए कर रहे हो | ऐसी स्थिति में जब आप हॉलीडे पर होते है तो आप एक जनरल रिप्लाई मैसेज सेट कर सकते है, जैसी कि ‘मै अभी ३ दिन के लिए अवकाश पर हूँ, और वापस आकर मै आपसे संपर्क करूँगा’ |

जीमेल(Gmail) पर आने वाले ईमेल को आप फ़िल्टर कर अलग अलग फोल्डर में रख सकते है| जैसे कि आप अपनी दो सर्विस अथवा प्रोडक्ट वेबसाइट चलाते है जिनका नाम ‘ABC’ और ‘XYZ’ है | ऐसी स्थिति में आप दोनों वेबसाइट के नाम से अलग फोल्डर क्रिएट कर सकते हो | और इससे आप दोनों वेबसाइट के लिए अलग अलग फोल्डर में ईमेल डाइवर्ट एकत्रित कर सकते हो| स्टार्टिंग में आपको थोड़ा मुश्किल हो सकती है पर बाद में सब सही हो जाता है | आप फोल्डर को अलग अलग कलर भी दे सकते हो, जिससे ईमेल को identify करना और भी आसान हो जाता है|

जीमेल(Gmail) से सम्बंधित कुछ और ब्लॉग जिन्हे आप पढ़ना चाहे, की लिंक नीचे दी हुई है |

जीमेल(Gmail) में प्रोफाइल पिक्चर और सिग्नेचर कैसे सेट करते है ?

जीमेल(Gmail) में लेबिल को बनाया और मैनेज कैसे किया जाता है ?

जीमेल(Gmail) SMTP सेटअप कैसे किया जाता है ?

जीमेल(Gmail) में ईमेल के पढ़े जाने या देखे जाने का पता कैसे चलता है ?

जीमेल(Gmail) के सारे कॉन्टेक्ट्स CSV फाइल में कैसे एक्सपोर्ट करते है ?

इस ब्लॉग को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते a5theorys@gmail.com पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट ‘interesting facts about Gmail(Google mail) service’ को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|