CodeIgniter Configuration In Hindi.

हेलो दोस्तों आज के इस ब्लॉग पोस्ट(CodeIgniter Configuration In Hindi) में हम आपको CodeIgniter Configuration के बारे में बताने जा रहे है | पिछले ब्लॉग में हमने CodeIgniter के बेसिक कांसेप्ट को देखा था और जाना था कि मॉडल, व्यू, और कंट्रोलर कैसे काम करते है |

पर इस ब्लॉग में हम देखेंगे कि किसी भी साइट को develop करने से पहले हमें CodeIgniter में कौन कौन से Configuration करने पड़ते है |CodeIgniter Configuration In Hindi|

CodeIgniter का use करते वक़्त सबसे पहले हम वेबसाइट का सेटअप करते है | और इसके बाद हम अपनी वेबसाइट को configure करते है | इसके लिए application /config फोल्डर में वो सभी Configuration फाइल्स रहती है जिमे हमें सेटिंग करनी पड़ती है |CodeIgniter Configuration In Hindi|

Configuring Base url :

application /config /config.php में हम साइट के base url को configure करते है | यह url आपके CodeIgniter का रुट होगा| और यह आपका base url होगा slash trailing के साथ | नीचे आप example देख सकते है |

http://example.com/

अगर आप इस base url को सेट नहीं करते है तो फिर CodeIgniter जो है आपके installation के हिसाब से protocol , domain और path को guess करेगा |

पर आपको यह बेस यूआरएल तो सेट करना ही है वजाये की आप autosuggestion पर डिपेंडेंट हो | और खास तौर पर तब जब आप production environment में काम कर रहे हो | आप $config array में ‘base _url’ key की मदद से बेस यूआरएल को कॉन्फ़िगर कर सकते है जैसे कि नीचे दिखाया गया है |

$config['base_url'] = 'http://your-domain.com';

Database Configuration :

आप अपने साइट के database को application /config /database.php फाइल में configure कर सकते है | हमें अक्सर डेटाबेस को दो environment के लिए set up करना पड़ता है, एक development environment और दूसरा है production environment |

और CodeIgniter द्वारा प्रोवाइड किये गए multidimensional array की मदद से हम डेटाबेस को different -2 environment के लिए configure कर सकते है |

$db['default'] = array( 
   'dsn'   => '', 
   'hostname' => 'localhost', 
   'username' => 'root', 
   'password' => '', 
   'database' => 'database_name', 
   'dbdriver' => 'mysqli', 
   'dbprefix' => '', 
   'pconnect' => TRUE, 
   'db_debug' => TRUE, 
   'cache_on' => FALSE, 
   'cachedir' => '', 
   'char_set' => 'utf8', 
   'dbcollat' => 'utf8_general_ci',
   'swap_pre' => '', 
   'encrypt' => FALSE, 
   'compress' => FALSE, 
   'stricton' => FALSE, 
   'failover' => array() 
);

आप कुछ option को उनकी default वैल्यू के साथ छोड़ सकते है | पर जो सेटिंग आपको configure करनी जरुरी है वो है hostname , username , password , database एंड dbdriver |

hostname − डेटाबेस की लोकेशन को specify करिये e .g . – localhost और IP Address

username − डेटाबेस के लिए username सेट करिये

password − डेटाबेस के लिए password सेट करिये

database − डेटाबेस का नाम सेट करिये

dbdriver − आप जिस भी डेटाबेस को use कर रहे है उसका टाइप specify करिये e.g. MySQL, MySQLi, Postgre SQL, ODBC, and MS SQL.

आप $db array की key को चेंज करके database के दूसरे Configuration को चेंज कर सकते है जैसे कि नीचे दिखाया गया है | जैसे कि डेटाबेस को टेस्टिंग environment में सेट करने के लिए हमें key को ‘test’ सेट करना पड़ेगा| जबकि बाकी डेटाबेस एनवायरनमेंट जस के तस रहेंगे |

$db['test'] = array( 
   'dsn'   => '', 
   'hostname' => 'localhost', 
   'username' => 'root', 
   'password' => '', 
   'database' => 'database_name', 
   'dbdriver' => 'mysqli', 
   'dbprefix' => '', 
   'pconnect' => TRUE, 
   'db_debug' => TRUE, 
   'cache_on' => FALSE, 
   'cachedir' => '', 
   'char_set' => 'utf8', 
   'dbcollat' => 'utf8_general_ci', 
   'swap_pre' => '', 
   'encrypt' => FALSE, 
   'compress' => FALSE, 
   'stricton' => FALSE, 
   'failover' => array()
);

आप variable की वैल्यू चेंज करके एक environment से दूसरे में बड़ी आसानी से स्विच कर सकते है जैसे कि निचे दिखाया गया है :

$active_group = ‘default’; //यह डिफ़ॉल्ट एनवायरनमेंट सेट करेगा
$active_group = ‘test’; //यह टेस्ट एनवायरनमेंट सेट करेगा |

Autoload Configuration :

यह फाइल यह specify करेगी कि किस सिस्टम को by default लोड होना है | पर फ्रेमवर्क को लाइट वेट रखने के लिए हम उन्ही मिनिमल रिसोर्सेज को ऑटोलॉयड करते है जो बहुत ही जरुरी है अथवा बहुत फ्रेक्वेंटली use होने है | इनमे से कुछ सिस्टम नीचे दिए गए है जो कि automatically लोड होते है :

Libraries − यह libraries की एक लिस्ट है जिसे autoload होना है | यह एक array के माध्यम से लाइब्रेरीज की एक लिस्ट प्रोवाइड करती है जो कि CodeIgniter द्वारा autoload की जाती है | नीचे दिए example में हम database , email , और session की libraries को automate कर रहे है |

$autoload['libraries'] = array('database', 'email', 'session');

Drivers − यह जो ड्राइवर्स है वो या तो system /Library में located रहते है या फिर application /Library में लोकेटेड होते है | पर ये ड्राइवर्स अपने ही sub -directory में भी प्लेस होते है और वो CI -driver _Library class को एक्सटेंड करते है |

और ये बहुत से multiple interchangeable driver options को प्रोवाइड करते है | नीचे autoload cache driver का एक्साम्प्ले दिया गया है :

$autoload['drivers'] = array('cache');

Helper files −यह एक helper फाइल्स की एक लिस्ट होती है जिसे ऑटोलॉयड करना है | यह एक ऐरे में लाइब्रेरीज की लिस्ट होती है जैसे कि आप नीचे देख सकते है जिसे CodeIgniter द्वारा autoload किया जाता है | नीचे दिए गए example में हम url और file helpers को autoload कर रहे है |

$autoload['helper'] = array('url', 'file');

Custom config files −इन files का उपयोग तभी किया जाता है जब आप कोई custom config files को क्रिएट करते है | नहीं तो इनको blank ही छोड़ देना है | नीचे example दिया गया है कि एक से ज्यादा config फाइल्स को कैसे autoload करना है :

$autoload['config'] = array('config1', 'config2');

Language files − यह language files की एक लिस्ट होती है जिसे autolaod करना होता है | आप example में निचे देख सकते है | यहाँ CodeIgniter द्वारा एक array में लैंग्वेजेज की लिस्ट provide करी जाती है जिसे autoload करना है |

आपको ध्यान रखना है की यहाँ पर आपको फाइल के “_lang” पार्ट को include नहीं करना है | एक्साम्प्ले के लिए “CodeIgniter _lang .php” का reference हम कुछ ऐसे देंगे array (‘codeigniter’);

Models −यह models file की एक लिस्ट है, जिसे autoload करना होता है | यह एक array में मॉडल्स की एक लिस्ट होती है जिसे कि CodeIgniter ऑटोलोड करता है | नीचे example में देख सकते है कि मॉडल फाइल को कैसे ऑटोलोड करना है :

$autoload['model'] = array('first_model', 'second_model');

Conclusion:

हेलो दोस्तों तो इस ब्लॉग(CodeIgniter Configuration In Hindi) पोस्ट में हमने देखा है कि CodeIgniter में site set up करने के बाद हमें कौन से जरुरी Configuration करना पड़ते है | ज्यादातर Configuration हमें config folder में जाकर कुछ जरुरी फाइल्स में करने होते है | इनमे कुछ Configuration है base url , database credentials इत्यादि| एक बार यह basic Configuration करने के बाद अपने वेबसाइट का development start कर सकते है |

इस ब्लॉग(CodeIgniter Configuration In Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected]पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट(CodeIgniter Configuration In Hindi) को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.