Types Of Firewall In Hindi.

हेलो दोस्तों आज के इस ब्लॉग पोस्ट(Types Of Firewall In Hindi) में हम आपको Firewall के types के बारे में हिंदी में जानकारी देने वाले है |

Firewall के कई सारे प्रकार होते है और सिस्टम में हमें कौन सी Firewall use अथवा install करना है यह यूजर की requirement पर depend करता है | चलिए तो इस ब्लॉग पोस्ट में हम explore करते है कि कितनी तरह की Firewall होती है |Types Of Firewall In Hindi|

Types Of Firewall In Hindi:

Proxy Firewall:

यह Firewall सबसे पुरानी Firewall में से एक है | और इस Firewall की एक सबसे महत्वपूर्ण characteristic यह है कि यह किसी भी कंप्यूटर का outside नेटवर्क से डायरेक्ट कनेक्शन रोकती है |

यह Firewall जो है वो स्पेसिफिक एप्लीकेशन के लिए एक gateway की तरह काम करती है जब किसी भी डाटा को एक नेटवर्क से दूसरे नेटवर्क में ट्रांसमिट किया जाता है |

Packet Filtering Firewalls:

यह Firewall भी जो है वो एक सबसे बेसिक Firewall का एक टाइप है और इस Firewall का उपयोग router लेवल पर एक बैरियर स्थापित करने के लिए करते है |

और इस Firewall का काम सिर्फ source और destination का IP address चेक करना होता है, लेकिन यह Firewall पैकेट के अंदर क्या डाटा है इस जानकारी को चेक नहीं करती है | यह Firewall जो है वो सबसे पुराने architecture का एक example है |

Circuit level Gateways:

यह Firewall जो है वो TCP (transmission control protocol) को चेक करती है | यह फ़ायरवॉल जो है वो TCP handshake को चेक करके यह ensure करती है कि पैकेट जो है वो एक सही source से आया है |

Stateful Inspection Firewalls:

यह एक अलग तरह की Firewall होती है और यह ऊपर दिए दो method को combine करके काम करती है और एक higher level security प्रदान करती है |

Next-Generation Firewalls(NGFW):

जैसे कि आज के समय में जब ज्यादातर ट्रांसक्शन और इनफार्मेशन शेयरिंग ऑनलाइन हो रही है, तब threats भी बहुत मात्रा में increase हुए है, इसलिए बड़ी बड़ी कम्पनीज जो है वो next generation Firewall की तरफ जा रही है|

और उन्हें use कर रही है क्योकि यह Firewall एक हायर लेवल पर कड़ी सुरक्षा प्रदान करती है | यह जो NGFW Firewall टाइप है वह एक बहुत बड़ी हाई end capabilities के साथ आती है|

और यह ऐसे बड़े organization जो कि हाई रिस्क पर रहते है उनको top end Firewall advantage प्रोवाइड करवाती है |

Software Firewalls:

एक software Firewall वह होती है जो कि आपके सिस्टम पर बिना किसी हार्डवेयर के install की जाती है | और यह एक तरह से antivirus Firewall application होती है |

वैसे तो जब आप अपने सिस्टम में window ऑपरेटिंग सिस्टम इनस्टॉल करते है तो विंडो के साथ एक डिफ़ॉल्ट विंडो Firewall इनस्टॉल होती है | और यह फ़ायरवॉल आपको बेसिक लेवल की प्रोटेक्शन प्रोवाइड करती है |

पर फिर भी यह काफी नहीं होती है जबकि आप अपने सिस्टम पर इंटरनेट का use करते हो | इसलिए window Firewall के अतिरिक्त आपको एंटीवायरस के फॉर्म में एक एडिशनल फ़ायरवॉल एप्लीकेशन इनस्टॉल करना भी जरुरी रहता है |

वैसे भी लोग अपने सिस्टम में अपनी जरुरत और उपयोग के अनुसार फ्री अथवा पेड antivirus सिस्टम जरूर इनस्टॉल करके रखते है |

Hardware Firewalls:

Hardware Firewall जो है वो एक ऐसी डिवाइस होती है जो कि फर्स्ट लाइन डिफेंस की तरह काम करती है और यह डाटा पैकेट को सर्वर तक पहुंचने से पहले ही फ़िल्टर कर देती है |

पर हार्डवेयर फ़ायरवॉल का सबसे बड़ा disadvantage यह होता है कि यह insider attacks द्वारा आसानी से बाईपास कर ली जाती है | और इनकी हार्डवेयर capabilities भी प्रत्येक supplier पर depend करती है |

तो दोस्तों यह कुछ Firewall और इनके types थे| और किसी भी organization अथवा सिस्टम networks के लिए कोई Firewall choose करने से पहले सभी फैक्टर्स पर carefully discussion करना जरुरी है और ध्यान रहे की इसमें vulnerabilities भी शामिल हो |

इस ब्लॉग(Types Of Firewall In Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected]पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट(Types Of Firewall In Hindi) को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.