The Leaky Bucket Algorithm In Hindi.Leaky Bucket Algorithm हिंदी में/ How does leaky bucket algorithm work?

हेलो दोस्तों, आज के इस ब्लॉग पोस्ट में मै आपको एक बहुत ही बढ़िया कंजेस्शन कण्ट्रोल अल्गोरिथम के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका नाम है ‘Leaky Bucket Algorithm In Hindi’.

What is the leaky bucket theory?

इस leaky bucket algorithm के अंतर्गत, एक बाल्टी होती है जिसकी पेंदी में एक छेद होता है, जब हम इस बाल्टी में पानी ऊपर से डालते है तब उसका rate निश्चित नहीं होता की किस रेट से पानी बाल्टी में जा रहा है|

पर जब पानी उस पेंदी वाले छेद से बहार आता है तब पानी के निकलने का rate fix होता है, और जब बाल्टी में पानी नहीं होता है तब इस रेट की वैल्यू जीरो होती है | और जब bucket full हो जाती तब इसमें आने वाला पानी ऊपर सभी side से निचे आने लगता है और waste हो जाता है |

बस इसी कांसेप्ट को हम packet transmission में इस्तेमाल करते है | इसमें प्रत्येक host network से connected रहता है, होस्ट एंड नेटवर्क के बीच एक interface होती है जो की leaky bucket रखती है |

यह एक finite internal queue की तरह होती है, जिसमे बकेट की साइज की हिसाब से ही कुछ पैकेट एक लाइन में आ सकते है| और अगर बकेट फुल होने के बाद कोई पैकेट आता है तब उस packet को discard कर दिया जाता है | और packet के इस तरह के transmission को हम leaky bucket algorithm कहते है |

Leaky Bucket
Leaky Bucket

यह leaky bucket algorithm एक अनियंत्रित पैकेट फ्लो जो की user और host के end से होता है को एक नियंत्रित पैकेट फ्लो में बदल देती है जहा पर सभी पैकेट एक सिस्टम से एक fix rate के साथ network में move करते है | इससे नेटवर्क में पैकेट के टकराव के चांस बहुत काम हो जाते है और network congestion बहुत ही काम हो जाता है |

इस ब्लॉग को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected] पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट ‘The Leaky Bucket Algorithm’ को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.