Encapsulation In Hindi

हेलो फ्रैंड्स आज के इस ब्लॉग पोस्ट(Encapsulation In Hindi) में मैं आपको encapsulation के बारे में बताने जा रहा हूँ | encapsulation oops का एक महत्वपूर्ण concept है |

पहले तो हम जानते है की इसका नाम encapsulation(Encapsulation In Hindi) क्या पड़ा?

जैसा कि आप देख सकते है कि इसके नाम में ही capsule शब्द है, तो जिस तरह एक कैप्सूल में कई सारी दबाइयों का मिश्रण होता है और फिर उसे कवर चढ़ा कर एक कंटेनर में रखते है जिसे हम capsule कहते है |Encapsulation In Hindi|

ठीक उसी प्रकार encapsulation के अंदर में भी हम सभी डाटा मेंबर जैसे कि वेरिएबल और फंक्शन्स को एक class के अंदर wrap करके रखते है |Encapsulation In Hindi|

और जिस क्लास में हम ये सब डाटा मेंबर्स को रखते है वो top level क्लास होती है या फिर हम उसे base class भी कह सकते है | और इस process को हम encapsulation कहते है |

पर अब आपके दिमाग में यह क्वेश्चन आ रहा होगा कि आखिर हम यह सब करते क्यों है और इस एन्काप्सुलेशन का हमें फायदा क्या है ?

तो देखिये दोस्तों एन्काप्सुलेशन का main उद्देश्य जो होता है वो है डाटा सिक्योरिटी प्रोवाइड करवाना | इसलिए हम सभी इम्पोर्टेन्ट डाटा को एक class के अंदर रख लेते है जिससे कि बाहर की कोई भी क्लास उन्हें आसानी से access न कर पाए |

पर एक ही class में सारा महत्वपूर्ण डाटा रख कर उसकी security कैसे होती है ?

encapsulation के अंतर्गत हम सभी डाटा मेंबर और डाटा फंक्शन को एक साथ टॉप class या बेस कॉल्स में रख लेते है और फिर class , variables , और functions को प्राइवेट डिक्लेअर कर देते है |

और इसके बाद हम इस क्लास में public getter और setter method रख देते है | जिससे कि जो important class इस क्लास के डाटा को access करना चाहती है वो इसे आसानी के साथ access कर पाए |

इस तरह से encapsulation की मदद से हम डाटा की security को maintain करते है |

पर अभी अभी आपके दिमाग में यह question आ सकता है कि अगर हम getter या setter का इस्तेमाल टॉप क्लास में कर सकते है तो क्या फिर भी डाटा की security बनी रहेगी ?

हाँ जी यहाँ पर डाटा अभी भी सिक्योर रहेगा | क्योकि जब भी कोई प्रोग्राम किसी भी सॉफ्टवेयर के लिए लिखा जाता है तब वहां पर कुछ नियम और पालिसी बनायीं जाती है और उसी हिसाब से classes को डिज़ाइन किया जाता है |

जैसे example के लिए हम एक base क्लास लेते है और इसमें हम एक employee का डाटा रखते है जिसमे हम employee name , employee age , employee salary , और employee unique code को रखते है|

अब यहाँ पर हम जानते है कि employee का नाम कभी भी चेंज नहीं होगा मतलब कि वो fix है, मतलब कि हम इसके लिए कोई भी getter और setter method इस क्लास में नहीं देंगे|

इसी तरह employee का यूनिक कोड भी कभी चेंज नहीं होना है | इसलिए हम इसके लिए भी कोई getter या setter मेथड नहीं रखते है |

अब बात आती है age कि, यहाँ पर हम सब को पता है कि employee की age हर साल बढ़नी है जैसे कि हम सभी की बढ़ती है जो कि एक natural प्रोसेस है | तो यहाँ पर employee कि age इन्क्रीमेंट करने के लिए हम getter मेथड का उपयोग करेंगे और उसे ऑटो इन्क्रीमेंट करेंगे |

अब बात करते है employee salary कि तो employee की salary टाइम के साथ बढ़ती है और उसमे appraisal होता रहता है | पर कितनी बढ़नी है यह कुछ फिक्स नहीं होता है | यह employee के work performance पर भी depend करता है |

तो employee की सैलरी को अपडेट करने के लिए हम एक setter method को टॉप क्लास में रखते है | और इसकी मदद से हम इस क्लास के बाहर रहकर भी employee कि salary सेट कर सकते है |

तो कहने का मतलब यह है कि डाटा के अनुसार ही बाहर की class इसे चेंज या अपडेट कर सकती है और इसी अनुसार प्रोग्राम को डिज़ाइन और डेवेलोप किया जाता है |

और इसका फायदा यह होता है कि कोई भी unauthorize users , hacker इसे access नहीं कर पाता| इसकी जगह अगर हम इन डाब डाटा वेरिएबल को पब्लिक रखते है तो फिर यह डाटा कही से भी किसी भी क्लास से एक्सेस किया जा सकता है |Encapsulation In Hindi|

Conclusion :

तो दोस्तों आज के इस ब्लॉग(Encapsulation In Hindi) में हमने oops के महत्वपूर्ण कांसेप्ट के बारे में जाना जिसे हम encapsulation कहते है | यह encapsulation कांसेप्ट का main उद्देश्य होता है डाटा की सिक्योरिटी करना | यहाँ पर class और वेरिएबल को एक ही क्लास में wrap करके रखते है और फिर उन्हें private declare करके उन्हें unauthorize access से बचा लेते है | और पब्लिक गेटर और सत्ततर की मदद से हम उन क्लासेज को इन variables का access देते है जो इन्हे चेंज या फिर अपडेट करना चाहती है |

इस ब्लॉग(Encapsulation In Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected]पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट Encapsulation In Hindi को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.