Why Java Is A Secure Language In Hindi?

हेलो फ्रेंड्स, आज के इस ब्लॉग पोस्ट(Why Java Is A Secure Language In Hindi?) में हम आपको Java लैंग्वेज के बारे में एक बहुत ही इंटरेस्टिंग जानकारी देने वाले है |

और यह जानकारी Java की सिक्योरिटी से रिलेटेड है | Java लैंग्वेज को और languages के comparison में बहुत secure माना जाता है |

इसलिए Java language में बहुत से लोग प्रोजेक्ट बनाना चाहते है और जितने भी बड़े प्रोजेक्ट होते है जिनमे सिक्योरिटी एक प्राइम concern होता है ऐसे प्रोजेक्ट्स अक्सर Java में बनाये जाते है |

पर बहुत से लोगो के मन में यह questions होता है कि जावा एक secure language क्यों होती है |Why Java Is A Secure Language In Hindi?

और languages की अपेक्षा इस लैंग्वेज में ऐसा क्या खास होता है जो कि इसे बहुत secure लैंग्वेज बना देता है | वैसे तो यह question जब कॉलेज स्टूडेंट से viva में पूछा जाता है तो ज्यादातर स्टूडेंट का answer यह होता है की JVM को use करने के कारण Java एक secure लैंग्वेज होती है |Why Java Is A Secure Language In Hindi?

और ये सही भी है | पर यह पूरा answer नहीं होता है | पहली बात तो बहुत से लोगो को यह पता नहीं रहता है की JVM कैसे जावा को एक सिक्योर लैंग्वेज बनता है |

और क्या और भी कुछ factors होते है जो Java को एक secure लैंग्वेज बनाते है |Why Java Is A Secure Language In Hindi?

तो पहले तो हम संक्षिप्त में देखते है कि Java एक secure language कैसे होती है ?|Why Java Is A Secure Language In Hindi??

जावा में किसी भी प्रोग्राम के फाइनल execution के पहले एक byte -code verification होता है जिससे कि किसी भी malicious कोड अथवा error code के jump करने के possibilities न के बराबर हो जाती है |

array की बाउंड चेकिंग और null की रिफरेन्स चेकिंग के कारण जावा में type error के चांस खत्म हो जाते है |

प्रोग्राम रन टाइम पर सिक्योरिटी चेक अप होता है और कोई भी ऐसा कोड जो कि कुछ सस्पीशियस लगता है उसका execution allow नहीं किया जाता है | सिक्योरिटी मैनेजर पूरे प्रोग्राम को monitor करता है और ऐसे कोड को प्रोग्राम से अलग निकल कर कोड को सुरक्षित तरीके से execute करता है |

Java के अंदर library लेवल की सिक्योरिटी प्रोवाइड की जाती है | कोई भी unauthorize यूजर जावा की वेरियस लाइब्रेरी को एक्सेस नहीं कर सकता है |

पर इसके अलावा भी कुछ technical features है जो कि Java को एक सिक्योर लैंग्वेज बनाने के लिए बहुत मदद करते है |

तो दोस्तों यहां पर आपको बता दूँ कि ऐसे तो Java के बहुत सारे फीचर्स होते है जो कि जावा को एक सिक्योर लैंग्वेज बनाते है | पर हम आपको यहाँ पर 10 महत्वपूर्ण फीचर्स बताने वाले है जो कि जावा को एक सिक्योर लैंग्वेज बनाते है | जिन्हे आप विस्तार के साथ नीचे पढ़ सकते है |

JVM

देखिये JVM का जो भी फंडामेंटल काम होता है वो होता है बाइट कोड को वेरीफाई करना| और JVM की जिम्मेदारी होती है कि वो प्रोग्राम में कोई भी unsafe ऑपरेशन परफॉर्म न होने दे| कभी कभी ऐसे केस हो जाते है कि प्रोग्राम किसी रॉंग लोकेशन पर चला जाता है और ऐसे समय उसमे malicious डाटा enter कर जाता है | पर यहाँ पर यह JVM की जिम्मदेदारी होती है कि वो ऐसा कोई भी चीज़ को न होने दे | तो ऐसे कोई भी Memory सेफ्टी फ्लॉस जिनसे डेवलपर लोग परेशान होते है JVM उन्हें रोकता है अथवा खत्म कर देता है |

Security API :

जावा क्लास लाइब्रेरी के अंदर ऐसे बहुत सारी API ‘s होती है जो की सिक्योरिटी से रिलेटेड होती है | और यह API ‘s क्रिप्टोग्रापिक अल्गोरिथम, सिक्योर कम्युनिकेशन और ऑथेंटिकेशन प्रोटोकॉल्स को होल्ड करती है |

Security Manager :

सिक्योरिटी मैनेजर यह ensure करता है की कोई भी doubted और malicious कोड जावा प्लेटफार्म और API ‘s को use न कर पाए|

Void of pointers :

जैसा कि हम जानते है कि Java में pointers का कोई भी concept काम नहीं करता है और pointers का disadvantage भी यह है की pointer का use करके कोई भी unauthorize रिफरेन्स को पास करके read और write ऑपरेशन को परफॉर्म कर सकता है | इसलिए जावा बहुत ही सिक्योर language है क्योकि जावा में पॉइंटर्स का कोई भी कांसेप्ट नहीं होता है |

Memory management :

जैसा कि हम जानते है की जावा गार्बेज कलेक्शन का use मेमोरी को मैनेज करने के लिए करता है | तो कभी अगर users मेमोरी को फ्री करना भूल भी गए तो भी यह फ्री नहीं रहती, क्योकि जावा इसे automatically गार्बेज कलेक्टर में डाल देता है | जिससे की कोई भी unauthorize users इन मेमोरी स्पेसेस का misuse नहीं कर पता |

Compile time checking :

अगर कोई unauthorized मेथड किसी भी प्राइवेट वेरिएबल को एक्सेस करने की कोशिश कर रहा है तो फिर JVM उसे compile time पर ही फेच कर लेता है और वो ऐसे सभी मेथड्स को कम्पाइले टाइम पर फेच करता है जो कि एनकाउंटर होते है |

Cryptographic Security :

Java Security Source Code क्लास किसी भी कोड को एक डिजिटल सिग्नेचर के साथ मेन्टेन रखती है जो कि इसे एक cryptographic security प्रदान करते है |

Java sandbox :

Java sandbox एक रिस्ट्रिक्टेड एरिया है जहाँ पर जावा अप्प्लेट्स रन होते है और यहाँ पर कोई भी applets बिना सिक्योरिटी चेक के सिस्टम resources को एक्सेस नहीं कर सकते है |

Exception handling :

Exception handling की मदद से जावा प्रोग्राम un-desired रिजल्ट को कैच कर सकता है | और फिर प्रोग्रामर को इसकी रिपोर्ट सेंड कर सकता है| और प्रोग्राम जब तक रन नहीं होगा जब तक इस एक्सेप्शन को rectify नहीं कर लिया जाता है | यह फीचर जावा को और सिक्योरिटी प्रदान करता है |

Java class loader :

JVM में कई सारे class loader होते है | हर क्लास जो load होती है उसे एक डिफरेंट नाम दिया जाता है | और क्लास्लॉअडर स्पेसिफिक क्लास के लिए namespace maintain करते है | ऐसा करने से कोई untrusted क्लास एक trusted क्लास की तरह behave नहीं कर सकती है |

Conclusion:

तो दोस्तों इस ब्लॉग पोस्ट(Why Java Is A Secure Language In Hindi?) में हमने यह जाना कि Java आखिर इतनी secure language क्यों होती है | और ऐसे कौन कौन से फीचर्स है जो इसे एक सिक्योर लैंग्वेज बनाते है | जावा में फाइनल कोड execution के पहले एक बाइट कोड वेरिफिकेशन होता है | और जावा में पॉइंटर्स का उपयोग नहीं होता है जिससे कोई भी रेफ़्रेन्स के जरिये किसी private वेरिएबल को एक्सेस नहीं कर सकता है | और इसके अलावा भी जावा में ऐसे बहुत से फीचर्स है जो की इसे secure language बनाने में मदद करते है |

इस ब्लॉग(Why Java Is A Secure Language In Hindi?) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected]पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट(Why Java Is A Secure Language In Hindi?) को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *