Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|NSDL और CDSL में क्या अंतर है?

हेलो फ्रेंड्स, आज के इस ब्लॉग पोस्ट(Difference Between NSDL and CDSL In Hindi) में हम आपको CDSL और NSDL के बारे में हिंदी में बताने वाले है | इस ब्लॉग में हम आपको इन दोनों share depositories के बारे में बताएँगे| यह दोनों ही depositories आपके share को hold करती है |

Difference Between NSDL and CDSL In Hindi:

CDSL (Central depositories services india ltd .) और NSDL (national securities depositories ltd.) दोनों ही इंडिया की शेयर depositories है जो की government registered है | इन share depositories में शेयर्स को electronic फॉर्म में होल्ड किया जाता है या आप कह सकते है digitally stored shares |Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|

कुछ समय पहले तक जो share trading होती थी वो केवल offline होती पेपर और डाक्यूमेंट्स के माध्यम से होती थी वहां पर shares को physical paper certificate के तौर पर hold करके रखा जाता था |Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|

जिस तरह आप banks में अपना पैसा जमा करके रखते है cash और fixed deposit के फॉर्म में उसी तरह CDSL और NSDL आपके shares को electronic फॉर्म में होल्ड करके रखती है | और जिस तरह बैंक में आपका पैसा electronic form में में होता है ऐसा तो होता नहीं है की बैंक में आपकी अलग से अलमारी है जिसमे वह आपका पैसा physical form में स्टोर करता है कुछ इसी तरह यह depositories में भी आपके shares को dematerialize फॉर्म में रखा जाता है |Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|

What are CDSL and NSDL?/ CDSL और NSDL क्या है ?

CDSL और NSDL दोनों ही share depositories है जिसमे मार्किट रेगुलेटर सिक्योरिटीज और एक्सचेंज बोर्ड ऑफ़ इंडिया भी शामिल है | यह share depositories आपके shares , डिबेंचर्स, म्यूच्यूअल फंड्स को होल्ड करती है और प्रत्येक depositories एक एक्सचेंज से लिंक होती है |

हमारे देश भारत में ट्रेडिंग के लिए दो मुख्य स्टॉक एक्सचेंज है एक है NSE और दूसरा है bse | NSDL depositories NSE के लिए है और CDSL depositories जो है वो bse के लिए है |NSDL 1996 में stabilishd हुई थी और CDSL 1999 में stabilished हुई थी |

What is the difference between NSDL and CDSL in Hindi?| NSDL और CDSL के बीच में क्या क्या अंतर है ?

NSDL और CDSL के बीच अंतर कई सारे पॉइंट्स के सन्दर्भ में निम्नलिखित है-

Stock Exchange:

CDSL bse के लिए काम करता है और NSDL NSE के लिए काम करता है | हलाकि कोई भी एक्सचेंज ट्रेडिंग करने और सिक्योरिटीज को सेटल करने के लिए किसी भी depositories का use कर सकता है |

Promoters:

अगला डिफरेंस जो है वो है प्रमोटर्स का | NSDL को IDBI bank ltd . और unit ट्रस्ट ऑफ़ इंडिया द्वारा प्रमोट किया जाता है जबकि CDSL को bse प्रमोट करता है दिसंबर 19 से |

Establishment years:

NSDL 1996 में established हो गया था जबकि CDSL 1999 में established हुआ था |

Demat account number format:

CDSL and NSDL दोनों के demat account number के format में difference होता है | CDSL के demat account में 16 numeric digit रहते है | जबकि NSDL के demat account number में 2 alphanumeric digits होते है ‘IN’ और 14 numeric डिजिट होते है |

Number of depository participants registered:

CDLS में 599 participants depositories registered है जबकि NSDL में 278 participants depositories registered है |

How do depositories work?| depositories कैसे काम करती है ?

stock अथवा share market में ट्रेडिंग करने के लिए जो सबसे जरुरी चीज़ होती है वो है Demat account | और Demat account जिस काम के लिए use होता है कही न कही depositories का काम भी उससे रिलेटेड ही है | जब आप शेयर को buy करते है तो वह आपके Demat account में क्रेडिट होते है और जब आप अपने शेयर को बेंचते है तो फिर वो आपके Demat account से डेबिट होते है |

So where does a depository account come into the picture? | अगर share का buy और sell Demat account से होता है तो फिर ये depositories account का क्या काम होता है ?

Demat account सिर्फ एक intermediary है अथवा madhyam है दरअसल आपके share को होल्ड CDSL और NSDL ही करते है | जब आप शेयर को buy करने के लिए Demat account ओपन करते हो तो फिर आपके शेयर actual में depositories में ही होल्ड होते है |

depositories का एक और फंक्शन होता है जो वो परफॉर्म करती है, जब कभी कोई कंपनी अपने शेयर होल्डर्स में dividents या bonus batna चाहती है तब उसे अपने शेयर होल्डर्स की जानकारी चाहिए होती है | पर पहले जब यह depositories नहीं होती थी तब उसे और इन्वेस्टर्स को यह काम करने में समय और परेशानी दोनों का सामना करना पड़ता था |

जैसे कि पहले के समय में आपने किसी से कोई शेयर ख़रीदे है और किसी और को बेंचे है तब आपको एक share certificate physically ट्रांसफर करना होता था | पर अब यह प्रोसेस सिर्फ mere account tranfer तक सीमित रह गयी है जो की दो Demat account के बीच होता है | इसलिए अब companies को अपने शेयर होल्डर की जानकारी depositories से आसानी से मिल जाती है |

Services offered :

जैसा की आप देख सकते है की दोनों depositories NSDL और CDLS में अंतर सिर्फ नाम, प्रमोटर्स, और अकाउंट नंबर formats का होता है | बाकी काम दोनों का same ही है और दोनों एक ही तरह से काम करती है और एक ही स्ट्रेटेजी के साथ अपनी सर्विस प्रोवाइड करती है | एक इन्वेस्टर के रूप में आप depositories participants के माध्यम से NSDL और CDLS की सर्विस आसानी से use कर सकते है |

कोई भी financial institution , broker , custodian और bank एक DP हो सकता है | और आप किसी भी DP के साथ अपना Demat account खोल सकते है | और यह प्रत्येक DP की जिम्मेदारी है की वो अपने share holders को उनके securities , trading details जो की depositoroes में trade हो चुकी है या हो रही है सभी की जानकरी account statement के जरिये provide करवाए |

List of services provided by CDSL and NSDL | CDSL और NSDL द्वारा प्रोवाइड की जाने वाली सर्विस की एक लिस्ट:

Demat अकाउंट का maintenance
Rematerialisation और dematerialization
Trade settlement
Share transfers
Market and off-market transfers
Distribution of non-cash corporate actions
Nomination/transmission
Account opening
Account statement
Changing account डिटेल्स

Difference between NSDL and CDSL in tabular form | NSDL और CDSL में tabular format में अंतर

विवरणNSDLCDSL
Demat Account Number Format16-digit alpha numeric number. Account number begins with ‘IN’ followed by 14 numeric digits16-digit demat account number
Investors Account1.95 crore**2.11 crore*
Number of DP participants registered278**599*
Establishment year19961999
Stock ExchangeNational Stock ExchangeBombay Stock Exchange
Full NameNational Securities Depository Ltd.Central Depositories Services Ltd.
Difference between NSDL and CDSL in tabular form

आप share market से जुड़े हुए कुछ और अच्छे blog नीचे दी हुई ब्लॉग लिंक का उपयोग करके पढ़ सकते है:

SEBI NEW MARGIN RULES IN HINDI 2021…
Difference between Intraday trading and delivery trading…
Delivery Trading vs Intraday Trading In Hindi…
Top 5 Best Demat and Trading Account In India…
Trading In Share Market In Hindi…
Mutual Fund vs Share Market…
Difference between the mutual fund and share market In Hindi…
What Is Share Market In Hindi…
What Is Share Market…
What Is NIFTY And SENSEX In Hindi…

Conclusion:

Which is better CDSL or NSDL? | CDSL और NSDL में कौन बेहतर है ?

ये कह पाना तो बहुत ही मुश्किल है क्योकि न ही तो इन दोनों depositories के बीच में कोई contrasting difference है और न ही कोई ऐसा ranking system है जिससे एक को दूसरे से बेहतर बताया जा सके| दोनों एक ही बोट पर सवार है |

यह कहने में कोई दिक्कत नहीं है की दोनों depositories में कोई भी material डिफरेंस नहीं है | उनकी functioning और सर्विस प्रोवाइड करने की strategy almost same ही है | और दोनों को ही SEBI द्वारा governed किया जाता है | बस अंतर है तो सिर्फ उनके naam , promoters , अकाउंट नंबर फॉर्मेट, year of estabilishedment में |

यह तो आप सोच सकते है की कौन सी depositories बेहतर है और कौन सी नहीं | क्योकि वैसे तो उनमे कोई फर्क नहीं होता है | और यह depositories का decision भी आपकी DP लेती है | आप decide नहीं कर सकते है की कौन सी depositories में आपको अकाउंट खोलना है बल्कि जिस भी depositories से आपकी DP associated होगी उसी पर आपका अकाउंट खुल जायेगा |Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|

पर कुछ बड़े DP participants जैसे SBI दोनों depositories में रजिस्टर्ड होते है CDSL एंड NSDL | तो यहाँ पर आपका अकाउंट दोनों में से किसी एक में खुल सकता है यह भी आपके DP द्वारा decide किया जायेगा| हाँ पर उस मार्जिन में थोड़ा बहुत डिफरेंस हो सकता है जो कि यह depositories डप participants पर levy करती है |Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|

और वैसे भी आपके इन्वेस्टमेंट, पोर्टफोलियो परफॉरमेंस का आपके DP से associated despositories से कोई खास लेना देना नहीं है | बस यह जाने के लिए पर्याप्त है की stock market का flow कैसे होता है और यहाँ पर कौन सी चीज़ कैसे काम करती है |Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|

इस ब्लॉग(Difference Between NSDL and CDSL In Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected]पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट Difference Between NSDL and CDSL In Hindi को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|Difference Between NSDL and CDSL In Hindi|NSDL और CDSL में क्या अंतर है?

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.