InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi.

हेलो दोस्तों आज के ब्लॉग पोस्ट(InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi) में हम आपको Innodb और MyISAM के बीच डिफरेंस बताने वाले है |

जब भी आप MYSQL अथवा mariaDB RDBMS का use करके टेबल को क्रिएट करते है तब आपको यहाँ पर स्टोरेज इंजन सेलेक्ट करने की फैसिलिटी मिलती है |InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi|

स्टोरेज इंजन में हमारी डाटा टेबल्स files के फॉर्म में स्टोर होती है और कुछ समय के लिए यह मेमोरी में स्टोर होती है | इस तरह के कई स्टोरेज इंजन रहते है पर जो सबसे ज्यादा use किये जाते है वो है Innodb और MyISAM |InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi|

ये दोनों ही MYSQL के अलग अलग वर्शन में default इंजन की तरह use किये जाते है | अगर आप टेबल क्रिएट करते समय कोई भी इंजन specify नहीं करते है तो ऐसे स्थिति में MYSQL का default इंजन सेट हो जाता है और data उसी में स्टोर हो जाता है |

MYSQL 5 .5 से पहले के सभी MYSQL version में MyISAM जो है वो एक default engine की तरह use होता था | और 5 .5 version और इसके बाद के सभी वर्शन में Innodb एक default इंजन के तौर पर use होता है |

कुछ cases ऐसे होते है जहाँ पर MyISAM को recommend किया जाता है पर ज्यादातर cases में Innodb को ही use किया जाता है |

InnoDB की जगह MyISAM का उपयोग कब करना चाहिए?

अगर हम एक जनरल way में बात करें तो जब भी हम MyISAM टेबल के साथ कई प्रॉब्लम फेस करते है तो यह प्रॉब्लम टेबल तक ही लिमिटेड रहती है और यह दूसरी टेबल अथवा डेटाबेस को इम्पैक्ट नहीं करती है जैसे कि Innodb के केस में यह कभी कभी हो जाता है |

तो जब भी हमें बहुत सारी sites को serve करना होता है तब ऐसे केस में हम MyISAM इंजन का उपयोग करते है |

MyISAM की जगह Innodb का उपयोग कब करना चाहिए?

Innodb जो है वो row level locks का extensively use करता है वजाये table लॉक के | इसलिए कुछ specific टेबल्स के लिए Innodb का use करके हम processing टाइम को reduce कर सकते है जो कि lock waiting में लग सकता है |

और इस तरह से हम memory यूसेज को भी reduce कर सकते है |

जो database Innodb इंजन के उपयोग करते है वो खुद से restored नहीं होते है और कभी कभी कुछ इशू ऐसे भी आ जाते है जिससे कि डाटा loss के चांस बन जाते है |

इसलिए ऐसे केस में यह और भी जरुरी हो जाता है कि आप automatic बैकअप को enable करके रखे अथवा आप इसे manually रेगुलर बेस पर restore करें |

MyISAM और Innodb दोनों का उपयोग कब नहीं करना चाहिए?

कई सारी साइट्स जो है वो session information को files में स्टोर करती है, लेकिन इसे database टेबल में ही स्टोर होना चाहिए | इसके लिए memory engine जो है वो एक बेहतर choice है Innodb और MyISAM की अपेक्षा |

InnoDB vs MYISAM: InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi In Tabular Form

INNODBMYISAM
Innodb जो है वो row -level lock को implement करता है |MyISAM जो है वो table level lock को implement करता है |
Innodb में हम बेहतर और automatic crash recovery की सुविधा प्राप्त करते है | Innodb में reliability है |MyISAM के अंदर ऐसा कुछ भी नहीं है | और यह ज्यादा reliable भी नहीं है |
Innodb जो है वो वर्शन 5 .6 के पहले तक full text search को सपोर्ट नहीं करता था |MyISAM जो है वो फुल टेक्स्ट सर्च को support करता है |
Innodb जो है वो Referential Integrity को सपोर्ट करता है |MyISAM जो है वो Referential Integrity को सपोर्ट नहीं करता है |
Innodb इंजन के केस में आप टेबल को रिपेयर नहीं कर सकते है |जबकि MyISAM के केस में आप टेबल को रिपेयर कर सकते है |
Innodb जो है वो transaction और atomicity को सपोर्ट करता है | किसी भी transaction को control करने के लिए यह commit , rollback , savepoint command का उसे करता है |MyISAM इनको सपोर्ट नहीं करता है | MyISAM के अंदर एक बार कोई ट्रांसक्शन interrupt हो जाता है तब ऐसे केस में उस ऑपरेशन को तुरंत ही abort कर दिया जाता है | और अगर वह ट्रांसक्शन थोड़ा बहुत भी execute हुआ है और उसने कुछ डाटा अथवा टेबल को impact किया है तो फिर वह जस का तस रहेगा |
InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi

इस ब्लॉग(InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected]पर ईमेल लिख सकते है|आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|InnoDB vs MyISAM In MYSQL Hindi|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.