Parked Domain In Hindi/ Parked Domain क्या होता है? / What does it mean when a domain name is parked?

हेलो फ्रेंड्स, आज के इस blog पोस्ट(Parked Domain In Hindi) में मैं आपको Parked domain(Parked Domain In Hindi) के बारे में बताने वाला हूँ | इसे हम रियल लाइफ सिनेरियो से जोड़ कर भी देख सकते है जैसे कि अक्सर हमने इस parking शब्द को गाड़ियों के सन्दर्भ में use किया होगा या फिर किसी को use करते देखा होगा|

जैसे जगह जगह पर वेहिकल्स को park करने के लिए वेहिकल्स parking होती है | और जब गाड़ी का use नहीं होता है तब हम उसे या तो बाहर किसी स्थान पर park कर देते है, अगर हम घर से बाहर होते है, या फिर हम उसे अपने घर के गेराज या बाहर park कर देते है |Parked Domain In Hindi|

बस इसी कुछ तरह Parked domain भी होता है, जब domain किसी भी सर्विस जैसे कि website और email से associate नहीं होता है तो हम उसे Parked domain कहते है |Parked Domain In Hindi|

अगर अभी भी आपके दिमाग में पिक्चर क्लियर नहीं हुई है तो चलिए तो इसे और बेहतर तरीके से समझते है | supoose कीजिये अपने एक hosting provider (Hostinger) से domain परचेस किया, यहाँ पर मैं सिर्फ domain की बात कर रहा हूँ, यहाँ पर कोई भी hosting purchase नहीं करी है|Parked Domain In Hindi|

अभी इस डोमेन को किसी भी वेबसाइट से अथवा ईमेल अकाउंट से attach नहीं किया गया है | तो इस सिचुएशन में यह डोमेन Parked domain कहलायेगा| और आप इसके nameserver में जाकें चेक करेंगे तो आप को वहां भी parking DNS record दिखाई देंगे जैसे कि example निचे दिया गया है |

 ns1.dns-parking.com;
 ns2.dns-parking.com;

और यह DNS records तब तक दिखाई देंगे जब तक आप इस Parked domain को किसी service (website OR email ) के साथ जोड़ नहीं देते|

अब यहाँ पर दो केस हो सकते है, एक यह कि अपने जहाँ से डोमेन परचेस किया है, वही से आप होस्टिंग प्लान परचेस कर ले| अगर आप ऐसा करते है तो आप को nameserver update करने कि जरुरत ही नहीं पड़ेगी|

जैसे ही आप कोई भी वेबसाइट बनाएंगे और उसे अपने डोमेन से attach करेंगे वैसे ही आपके सारे DNS records automatically अपडेट हो जायेंगे| क्योकि आपकी hosting और domain के प्रोवाइडर एक ही है |

पर जब आपका domain अलग जगह से और आपकी hosting अलग जगह से होती है तो फिर आपको nameserver अपडेट करने पड़ते है | जैसे कि यहाँ पर आपने domain hostinger से purchase किया और मान लीजिये आपकी hosting a2hosting site में है, तो इस केस में अगर आप अपने डोमेन से a2hosting में present website को पॉइंट करना चाहते है तो फिर आपको a2hosting के nameserver रिकार्ड्स अपने hostinger अकाउंट में add करने होंगे|

और जैसे ही आप name server रिकार्ड्स ऐड कर देते है वैसे ही 24-48 घंटे के अंदर आपका nameserver records अपडेट हो जाते है और आप अपनी वेबसाइट को अपने domain से access कर पाते है | और इसी के साथ a2hosting अकाउंट में आपके domain लिए सारे DNS records automatic generate हो जायेंगे|

इस ब्लॉग(Parked Domain In Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते a5the[email protected] पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट ‘Parked Domain In Hindi/ Parked Domain क्या होता है’ को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.