CSMA(Carrier Sense Multiple Access In Hindi) In Hindi. CSMA हिंदी में/ What is CSMA CD in Hindi?/ CSMA in Hindi.

हेलो दोस्तों, आज के इस ब्लॉग पोस्ट(CSMA in Hindi) में मैं आपको बहुत ही इंटरेस्टिंग एंड इम्पोर्टेन्ट प्रोटोकॉल के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका नाम CSMA (CSMA in Computer Network)(CSMA in Hindi) है| इसका फुल फॉर्म है , carrier sense multiple access |

आज के इस ब्लॉग पोस्ट(CSMA in Hindi) में हम बहुत ही interesting और useful प्रश्नो को discuss करने वाले है जैसे कि What is CSMA used for? What is CSMA CA and how does it work? What are the CSMA access modes?…

…What is difference between CSMA CD and CSMA CA? How does CSMA work? What is CSMA and its types?

अलोहा(ALOHA) की तरह यह भी एक collision प्रोटोकॉल(protocol) की श्रेणी में आता है | इस CSMA प्रोटोकॉल के अंतर्गत कोई भी स्टेशन जो अपने डाटा फ्रेम को ट्रांसमिट करना चाह रहा है, वो सबसे पहले medium अथवा रास्ते को सेंस करेगा और देखेगा कि कही और कोई डाटा ट्रांसमिशन की प्रोसेस तो नहीं चल रही है अथवा कोई और स्टेशन अपना डाटा फ्रेम ट्रांसमिट तो नहीं कर रहा है |

और अगर medium अभी बिजी होता है तो स्टेशन अपना डाटा फ्रेम ट्रांसमिट करने के लिए वेट करता है | और जब मध्यम idle या फ्री होता है तब स्टेशन अपना डाटा ट्रांसमिट कर सकता है |

यहाँ पर हम साफ़ देख सकते है, कि यह प्रक्रिया ऐसे networks में बहुत कारगर सिद्ध होगी जहा पर एवरेज फ्रेम ट्रांसमिशन टाइम, प्रोपोगेशन टाइम से बहुत ज्यादा होता है | क्योकि collision वही पर होता है, जहा पर दो एक से ज्यादा यूजर एक साथ या फिर बहुत कम समय अंतराल में फ्रेम ट्रांसमिट कर देते है |

अगर कोई स्टेशन फ्रेम ट्रांसमिट करता है और वह फ्रेम आराम से बिना किसी collision के दूसरे स्टेशन तक पहुँच जाता है, तब यह सिर्फ इसलिए हो पता है कि सभी दूसरे स्टेशन को इस ट्रांसमिशन के बारे में पता होता है, इसलिए इसके कम्पलीट होने तक कोई और फ्रेम का ट्रांसमिशन नहीं करता|

CSMA(CSMA CD in Hindi) द्वारा प्राप्त किया गया maximum utilization ALOHA और SLOTTED ALOHA से कही ज्यादा होता है| CSMA में maximum utilization दो बातों पर निर्भर करता है | एक तो लेंथ ऑफ़ फ्रेम एंड प्रोपोगेशन टाइम | longer the frame , shorter the propogation time , higher the utilization |

what is CSMA/CD?/ CSMA in Hindi?

CSMA CD का पूरा नाम collision detecttion होता है, इसका काम यह होता है की यह देखता कि नेटवर्क में coliision कहा पर हो रहा है | जैसे यह किसी भी data collision को detect करता है वैसे ही यह तुरंत उस डाटा का ट्रांसमिशन बंद कर देता है, जिससे कि और टाइम बर्बाद न हो |

what is CSMA/CA?

CSMA CA का फुल फॉर्म होता है collision avoidance , इसका काम collision के पहले का ही होता है, collision होने के बाद यह कोई भी काम जैसे कि डाटा रिकवरी या फिर रट्रांस्मिशन नहीं करता | यह नेटवर्क को हेमशा मॉनिटर करता रहता है और जब भी नेटवर्क idle होता है तब यह डाटा पैकेट का ट्रांसमिशन कर देता है |

CSMA के अंतर्गत हम तीन Algorithm को देखेंगे जो हमें बताती है कि किसी भी स्टेशन को क्या करना चाहिए जब medium बिजी होता है|

1 – Persistent CSMA :

1 -परसिस्टेंट अल्गोरिथम का उपयोग हम ऐसे situation को avoid करने के लिए करते है जहा पर stations को transmission के पहले इंतज़ार करना पड़ता है, चाहे चैनल idle क्यों न हो |

इस algorithm के अंतर्गत एक पैकेट को चैनल में ट्रांसमिट किया जाता है, जिसकी probability 1 होती है | और यह चैनल को सेंस करता है, अगर चैनल idle होता है तो स्टेशन प्रोबेबिलिटी १ के साथ इम्मीडिएटली डाटा ट्रांसमिट कर सकता है और अगर बिजी होता है तो फिर स्टेशन वेट करता है|

और midium के idle होने कि situation में एक से ज्यादा stations एक साथ ट्रांसमिट करते है तो फिर collision होना निश्चित होता है, ऐसी situation में station एक random समय तक इंतज़ार करने के बाद फ्रेम को retransmit करते है|

इस प्रोटोकॉल(1-Persistent CSMA) के तहत स्टेशन medium को सेंस करता है और निम्नलिखित नियमो को फॉलो करता है:

(a) अगर Medium idle है तो ट्रांसमिट करो नहीं तो जो तो step (b) |
(b) अगर Medium बिजी है तो उसे continuously sense करते रहो और जैसे ही Medium idle हो जाये तो तुरंत फ्रेम को ट्रांसमिट कर दो |

non -Persistent CSMA : Non persistent CSMA

कोई भी स्टेशन जो ट्रांसमिट करना चाह रहा है, पहले तो वो मध्यम को सेंस करता है और नीचे लिखे नियमो का पालन करता है|

(a ) अगर Medium idle है तो ट्रांसमिट करो ; goto step(b)
(b ) अगर Medium बिजी है तो तब कुछ समय(probability distribution टाइम और retransmission-delay) के लिए इंतज़ार करिये| और फिर स्टेप(a ) को रिपीट करिये|

P -Persistent CSMA : P-persistent CSMA

P -Persistent को develop करने के मुख्य कारण यह थें कि, हम collision से उत्पन्न होने वाले interference को कम कर सके और throughput को बढ़ा सके| यह 1 -Persistent का एक general case है जिसे slotted चैनल पर apply किया जाता है|

इस protocol के अंतर्गत, अगर कोई स्टेशन फ्रेम ट्रांसमिट करने के लिए रेडी हो जाता है तब और सेंस करने पर चैनल भी idle होता है तब यह या तो probability p के साथ पैकेट send करता है या फिर यह एक time slot छोड़ कर packet send करता है with ा probability q = p -1 |

अगर दूसरा time slot भी idle होता है तब स्टेशन या तो probability p के साथ पैकेट भेजता है और दुबारा से defers करता है probability q के साथ| यह प्रोसेस तब तक रिपीट होती होती है जब तक या तो पैकेट ट्रांसमिटेड होता रहता है या फिर channel बिजी हो जाता है |

चैनल बिजी होने पर स्टेशन यह assume कर लेता है कि वह पर कोई collision हो गया था| ऐसी स्थिति में एक रैंडम समय के बाद स्टेशन फिर से ट्रांसमिशन attempt चालू करता है |

एक केस यह भी हो सकता था कि स्टेशन को शुरुआत में ही चैनल busy मिलता तब स्टेशन next स्लॉट के लिए wait करता और फिर से अपनी वही process चालू कर देता है |

यह प्रोसेस collision को कम करने की एक ऐसी विधि है जैसे की non -Persistent और idle time तो कम करने की विधि जैसे कि p -Persistent .

इसके(P-Persistent CSMA) नियम निम्नलिखित है |

(a) अगर medium idle है तब probability p के साथ transmit करो और probability (1 -p) के साथ one time यूनिट डिले करो, यह डिले टाइम यूनिट maximum propogation time के बराबर होती है |
(b) अगर medium busy है तब चैनल को sense करना जारी रखो, जब तक कि वो idle नहीं हो जाता, और इसके बाद रिपीट((a)|
(c). अगर ट्रांसमिशन एक यूनिट टाइम delay होता है तब repeat step (a) |

Conclusion:

इस ब्लॉग में हमने CSMA protocol(CSMA in Hindi) के बारे में जाना | और हमने CSMA protocol से related सभी important प्रश्नो को discuss किया जैसे कि What is CSMA used for, What is CSMA CA and how does it work, What are the CSMA access modes, What is difference between CSMA CD and CSMA CA, How does CSMA work, What are CSMA and its types.

इस ब्लॉग(CSMA in Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected] पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट ‘CSMA(carrier sense multiple access in hindi)/ CSMA in Hindi’को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.