C++ vs Java In Hindi/ C ++ और Java में अंतर हिंदी में / How is C++ different from Java?

हेलो friends , आज के इस blog post में मैं आपको C ++ और Java में diffference बताने वाला हूँ वो भी हिंदी में. जैसा की हम जानते है की C ++ भी Java की तरह ही एक object oriented language है | लेकिन फिर भी उनके features और function में कई सरे difference देखने को मिल जाते है | ऐसे ही कुछ डिफरेंस C ++ vs Java नीचे निम्नलिखित है |

C ++ एक pure object oriented language नहीं है क्योकि C ++ में हम बिना class और object को use किये भी program लिख सकते है |

Java एक pure object oriented language है, क्योकि Java में program लिखने के लिए कम से कम एक class तो होनी ही चाहिए |

C ++ में pointers होते है |

Java में न तो हम pointers create कर सकते है और नहीं उन्हें use कर सकते है |

C ++ में memory को allocate करना और deallocate करना programer का काम होता है |
Java में memory को allocate करना और deallocate करना JVM की जिम्मेदारी होती है, JVM इन सभी चीज़ो को handle करता है |

C ++ में goto statement होता है |

Java में goto statement नहीं होता है |

C ++ में automatic casting available रहती है |

Java के अंदर कुछ cases में ही casting available होती है वो भी implicit casting , लेकिन साथ में ये भी advise दी जाती है कि, programer कस्टिंग का use तभी करे जब उसकी requirement हो OR use करना जरुरी हो |

C ++ में multiple inheritance का feature available होता है |

Java में कोई भी मल्टिपल inheritance नहीं होता है, पर उसे achieve करने के और कई तरीके होते है |

C ++ में operator overlaoding होती है |

Java में operator overlaoding नहीं होती है |

define , typedef एंड header files C ++ में availble होती है |

define , typedef एंड headerfile Java में availble नहीं होती है | पर इनके features को achive करने के और दूसरे तरीके होते है |

C ++ में तीन access specifier होते है |

जावा char access specifier को support करता है | private, public, protected, and default.

C ++ में constructor और destructor होते है |

Java में केवल constructor होते है, destructor Java में available नहीं होता है |

इस ब्लॉग को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected] पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट ‘C++ vs Java In Hindi‘ को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.