Prim’s Algorithm In Hindi In Data Structure. Prim’s Algorithm हिंदी में / How does Prim’s algorithm work?

हेलो Friends , आज के इस blog post(Prim’s Algorithm In Hindi) में मैं आपको एक बहुत ही important algorithm के बारे में बताने जा रहा हूँ, जिसका नाम है Prim’s algorithm , आपने इस Prim’s algorithm को data structure में पढ़ा होगा | और जिन लोगो ने नहीं भी पढ़ा है वो चिंता न करे मैं Prim’s algorithm को यहाँ पर बहुत ही simple तरीके से explain करने वाला हूँ|

Prim’s algorithm(Prim’s Algorithm In Hindi), greedy algorithm का एक type है or आप कह सकते है कि यह एक greedy algorithm ही है, जिसके तहत हम दिए गए problem से सबसे optimal और closest solution को find करने की कोशिश करते है |

कहने का मतलब यह है की अगर हमें एक graph दिया जाता है और बोला जाता है की इस ग्राफ का spanning tree बनाओ वो भी Prim’s algorithm की मदद से, तब इस केस में हम Prim’s algorithm की मदद से spanning tree का निर्माण करते है |

Prim’s algorithm को step by step समझने के लिए निचे दिए procedure को ध्यान से देखे / What is Prim’s algorithm with example?

prim's algorithm procedure
prim’s algorithm In Hindi procedure

ऊपर दिए हुए चित्र में सबसे पहले हमें एक undirected graph दिया गया है, जिसका हमें spanning tree बनाना है |

Fig (a) में हम सबसे पहले सभी vertex बना लेते है जैसे के मैं ग्राफ में दिए गए है और इसके बाद हम ग्राफ में देखते है की कौन सी edge सबसे छोटी है, यहाँ पर हम देख सकते है की edge DE और GH दोनों की length ही 2 है जो कि सबसे छोटी लेंथ है |

पर यहाँ पर हम कोई भी एक edge ले सकते है, orderwise सबसे पहले हम DE को लेते है, क्योकि यहाँ पर हमारा स्टार्टिंग vertex D है |

DE के बाद हम देखते है कि इसके nearest vertex कौन कौन से है जिनकी cost minimum है | तो हम यहाँ पर देखते है कि DA कि cost सबसे minimum है जो कि 3 है, इस तरह हम D से A को ज्वाइन कर देते है |

इसके बाद हम देखते है कि A D और E के nearest vertex में सबसे कम cost किसकी है, तो हम यहाँ पर पाते है कि सबसे कम cost EG कि है, इसलिए हम EG को ज्वाइन कर देते है|

इसके बाद हम देखते है कि A , D, G E के नजदीक सबसे कम cost वाला vertex कौन सा है, तो हम यहाँ पर देखते है कि सबसे कम cost GH का है जो कि 2 है |

फिर से वही प्रोसेस दोहराते है और देखते है कि A , D, G , E, और H के नजदीक सबसे कम cost वाला vertex कौन सा है, यहाँ पर हम देखते है कि सबसे कम cost वाला vertex है B, इसलिए हम HB को join कर देतें है |

फिर से इसी तरह हम देखते है कि A , D G E H B के नजदीक सबसे कम cost वाला vertex कौन सा है, और यहाँ पर हम पातें है कि सबसे कम cost वाला vertex है F, हम FH को ज्वाइन कर देते है |

same इसी तरह अगला vertex होता है C, इसलिए हम FC को ज्वाइन कर देते है |

इसके बाद हम जब किसी भी कम cost वाले vertex को देखते है, और उस vertex को ज्वाइन करते है तो एक loop बनने लगता है or एक cycle बनने लगती है इसलिए हम प्रोसेस को यहीं पर रोक देते है |

इस तरह हमें हमारा spanning tree मिल जाता है |

इस Prim’s algorithm(Prim’s Algorithm In Hindi) में याद करने लायक एक बात यह होती है कि यहाँ पर जो हम spanning tree बनाते है वो हमेसा connected रहता है और यहाँ पर node connected रहते है| कहने का मतलब यह है कि हमारे node से connected जितने node होतें है हमें उसी में से minimum cost देखना होती है |

यहाँ पर आपके दिमाग में एक question आ सकता है कि अगर 2 बराबर cost वाली एज है तो सबसे पहले कौन सी edge लेनी है?

वैसे यहाँ पर हमने edges को एक order में लिए है, पर आप कोई भी edge सेलेक्ट कर सकते है, इससे आपका spanning tree थोड़ा different होगा पर होगा वो भी एक spanning tree | वैसे भी हम एक complete undirected ग्राफ से बहुत सारे spanning tree बना सकते है |
अगर हमारे ग्राफ में ३ वर्टेक्स है तो हम उससे ंपोन-२ स्पॅनिंग ट्री बना सकते है |


Kruskal Algorithm In Hindi In Data Structure. Kruskal Algorithm हिंदी में/ What is Kruskal’s algorithm used for?

इस ब्लॉग(Prim’s Algorithm In Hindi) को लेकर आपके मन में कोई भी प्रश्न है तो आप हमें इस पते [email protected] पर ईमेल लिख सकते है|

आशा करता हूँ, कि आपने इस पोस्ट ‘Prim’s Algorithm In Hindi In Data Structure’ को खूब एन्जॉय किया होगा|

आप स्वतंत्रता पूर्वक अपना बहुमूल्य फीडबैक और कमेंट यहाँ पर दे सकते है|

आपका समय शुभ हो|

Anurag

I am a blogger by passion, a software engineer by profession, a singer by consideration and rest of things that I do is for my destination.